शाम होते ही यह दिल उदास होता है????????

शाम होते ही यह दिल उदास होता है टूटे हुए ख्वाबों के सिवा कुछ ना पास होता है तुम्हारी याद ऐसे वक्त बहुत आती है जब कोई बंदर आस पास होता है???????????????????????

जाने दिल का हाल बताना छोड़ दिया हमने भी गहराई में जाना छोड़ दे जब होली में कुछ दिन बाकी है तुमने अभी से क्यों ना आना छोड़ दिया

????????????????????????????????

दोस्ती गजल है गुनगुनाने के लिए दोस्ती नगमा है सुनाने के लिए तो सब को नहीं मिलता क्योंकि हौसला चाहिए दोस्ती निभाने के लिए

????????????????????????????????

ए दोस्त जब भी तू उदास होगा मेरा ख्याल तेरे पास होगा दिल की गहराई से जब भी करोगे याद हमें तुम्हें हमारे करीब होने का एहसास होगा

????????????????????????????????

हंसना वाला किसी को गवारा नहीं होता हर मुसाफिर जिंदगी का सहारा नहीं होता मिलते हैं वह लोग तन्हा जिंदगी में पर हर कोई प्यारा आप सा नहीं होता

????????????????????????????????

हाले दिल कुछ इस तरह हमारा है यादों में दिन में 100 बार किया करते हैं जो ना आए 1 दिन s.m.s. तुम्हारा पुराने ऐसे मैसेज पढ़ लिया करते हैं

????????????????????????????????

जमाने से कब के गुजर गए होते हैं ठोकर ना लगी होती बच गए होते बंधे थे बस तेरी दोस्ती के धागे में वरना कब के बिखर गए होते????????????????????????????

रोशनी देखो डूब जाना कोई सूरज से सीखे दिल देके दर्दे ना कोई हमसे सीखे कुछ ना देकर दिल देना कोई उनसे सीखे s.m.s. पढ़कर रिप्लाई ना देना कोई आपसे सीखे???????????????????

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: