मेरी मोहब्बत है वो कोई मज़बूरी तो नही, वो मुझे चाहे या मिल जाये, जरूरी तो नही,


?? ? ??❤??
मेरी मोहब्बत है वो कोई मज़बूरी तो नही,
वो मुझे चाहे या मिल जाये, जरूरी तो नही,
ये कुछ कम है कि बसा है मेरी साँसों में वो,
सामने हो मेरी आँखों के जरूरी तो नही!
?? ? ??❤??


??????
हम रूठे तो किसके भरोसे,
कौन आएगा हमें मनाने के लिए,
हो सकता है, तरस आ भी जाए आपको..
पर दिल कहाँ से लाये.. आप से रूठ जाने के लिए!
??????


दोस्ती वो नहीं जो जान देती है,??
दोस्ती वो भी नहीं जो मुस्कान देती है,
अरे सच्ची दोस्ती तो वो है..??
जो पानी में गिरा हुआ आंसू भी पहचान लेती है|


ये इश्क भी एक अजीब एहसास होता है…
अल्ज़फों से ज्यादा निगाहोसे बया होता है…
हर पल बस उसके गम और खुशी की फ़िक्र होती है…
इसी एहसास से तो हमको जीने का गुमान होता है…

???????????????


ज़िंदगी में अगर तुम अकेले हो तो प्यार करना सिख़लो,
और प्यार कर लिया हैं तो इज़हार करने भी सिख़लो.
अगर इज़हार करना नही सीखा तो,
ज़िंदगी भर प्यार के यादों में रोना सिख़लो…

????????????????


मत मुस्कुराओ इतना की फूलो को खबर लग जाये,
हम करें आपकी तारीफ और आपको नजर लग जाये
खुदा करे बहुत लम्बी हो आपकी जिंदगी ,
और उस पर भी हमारी उम्र लग जाये….????

??????????????
फुल हो तुम मुरझाना नहीं
अपने इस दोस्त को कभी भुलाना नहीं
जब तक हम जिन्दा है ए दोस्त
कभी किसी से घबराना नहीं???????

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: