छोड दी हमने हमेशा के लिए उसकी आरजू करना, जिसे मोहब्बत ? की कद्र ना हो उसे दुआओ मे क्या मांगना ! ?


??????
छोड दी हमने हमेशा के लिए उसकी आरजू करना,
जिसे मोहब्बत ? की कद्र ना हो उसे दुआओ मे क्या मांगना ! ?

Good Night
??????


रात का अँधेरा कुछ कहना चाहता है,

ये चाँद चांदनी के साथ रहना चाहता है,

हम तो तन्हा ही खुश थे ,

मगर पता नहीं क्यों ये दिल किसी के साथ रहना चाहता है .

GOOD NIGHT DEAR


हम कभी तुमसे खफ़ा हो नहीं सकते;
वादा किया है तो बेवफा हो नहीं सकते;
आप भले ही हमें भुलाकर सो जाओ;
मगर हम आपको याद किये बिना सो नहीं सकते।
शुभ रात्रि। Good Night


??????
ना जाने क्यों इतनी जल्दी ये रात आ जाती है;
बातों ही बातों में आपकी बात आ जाती है;
हम तो बहुत सोने की कोशिश करते हैं;
लेकिन ना जाने क्यों आपकी याद आ जाती है।
शुभ रात्रि।
??????


कैसा होता अगर कभी रात न होती;
फिर सपनों में उनसे मुलाकात न होती;
वो वादा करते हमसे मिलने का सपनो में;
न मिलते हम न आँखें चार होती।
शुभ रात्रि।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: