क्या कहूं जितना कहना था उतना खा चुका हूं मुझसे कुछ कहा नहीं जाता उसे दो ला के 1 दिन तो 1 दिन है एक पल भी रहा नहीं जाता

क्या कहूं जितना कहना था उतना खा चुका हूं मुझसे कुछ कहा नहीं जाता उसे दो ला के 1 दिन तो 1 दिन है एक पल भी रहा नहीं जाता??????????

is tarh मसल मसल कर चलोगी तो कमर बलखा ही जाएगी हर किसी के दिल में तेरी तस्वीर होगा और सारे दीवान थे चांद जैसे मुखड़े पर बादल bankar छा जाएगी

???????????????

इंग्लिश में तू चाल चलती है वह ली तेरी हिंदी है अपना दिल के लहू से पत्र लिखा हूं मैं यह मत समझना कि मेहंदी है

???????????????

जब से देखा हूं जाना उस सच तब से दिल नहीं है क्या वह मैं जो मुझे तेरे होठों में लिख रहा है शायद वो चने किशमिश और काजू में

???????????????

गुमसुम रहती हो क्यों किसके ख्यालों में भटक रहा तेरा मन है इसमें सीने में तेरा दिल छुपा है यह तो बताओ किस खुशनसीब का स्थान है

??????????????

बेवफा तूने वफा को छोड़ दिया क्या कमी थी कि तूने मुझ से मुंह मोड़ लिया लगता है बेवफाई करने में तुमको मजा आता है मुझको छोड़ कर गैरों से नाता जोड़ लिया

????????????????

मुझको तो ऐसा लगता है कि बूढ़े के लिए फूलों में महक आती है मैं क्या कहूं या ना कहूं 16 साल की उम्र में सारे भाग जाते हैं

???????????????

ऐ khuda isjaha mainहसीनो की कमी नहीं हम तुमसे यही फरियाद करते हैं और ऐसा किया तो यह मर जाएंगे जो इतने दिन रात याद करते हैं

????????????????

जब से देखा हूं तुमको चैन से नहीं रह पाता रोज एक बार अवश्य तेरे घर के फेरे कराता तू नीचे चीन इस दिल को घायल बना दिया तो बन गई है लैला और मुझ को मजनू बना दिया

???????????????

मैं तेरे प्यार में दीवाना हो गए एक खत भेज रहा हूं करना नहीं ना अगर तूने मेरे प्यार पर शक हो तो kehna भेज दूंगा अपनी जान

??????‍❤️‍?‍?????????

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: