याद करते हैं यारों को यादों

याद करते हैं यारों को यादों से दिल भर आता है कल sath jiya करते थे सब आज मिलने को दिल तरसता है?????

??हम खुशी में आपकी बात करते हैं सलामत रहे तू यह फरियाद करते हैं एक मैसेज से क्या बताएं हम आपको कितना याद करते हैं?????

अजीब सी कशिश है तुमने कि हम तुम्हारे ख्यालों में खोए रहते हैं यह सोच कर कि तुम ख्वाबों में आओगे हम दिन में भी सोए करते हैं

अजीब सी कशिश है तुमने कि हम तुम्हारे ख्यालों में खोए रहते हैं यह सोच कर कि तुम ख्वाबों में आओगे हम दिन में भी सोए करते हैं

बादलों की दरमियां कुछ ऐसी साजिश हुई मेरा घर मिट्टी का था मेरे ही घर बारिश हुई

उसने कहा बस इतनी सी मुलाकात बहुत है रो रो कर कहा ठहरो अभी रात बहुत है आंसू मेरे थम जाए तो फिर जाना शौक से ऐसे में कहा जाओगे बरसात बहुत है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: